Blog

What’s in a name?

छोटे-छोटे काम वाले लोग ऐसा कर सकते हैं। कोई बड़ी कंपनी ऐसा रिस्क नहीं ले सकती है। जिसका करोड़ो का बिजनेस है वह ऐसा काम नहीं करेगा। कोई बड़ी कंपनी कहे कि हम सबसे खराब नमक दे रहे हैं, खाकर तो देखें तो कोई खरीदेगा ? यह छोटे शहरों और छोटी जगहों पर चल सकता … Continue reading “What’s in a name?”

कालिया 

सेलफोन के ईजाद से बहुत साल पहले, एक काले रोटरी-डायल टेलीफोन के जादुई शक्ति ने मेरे बचपन और अस्सी के दशक में जन्में अन्य बच्चों की कल्पनाओं को ऊँची उड़ान दी थी। देवाशीष मखीजा, लेखक और फिल्म निर्देशक कोरोमंडल एक्सप्रेस में हमारे डिब्बे को अलग कर बैंगलोर मेल में लगाया जा रहा था। हमारे डिब्बे … Continue reading “कालिया “

Street hawker Kallu Kewat songs reflect people’s poet Nazeer Akbarabadi’s style

नज़ीर अकबराबादी दुनिया के पहले एडवरटाइजिंग जिंगल राइटर थे।उन्होंने लगभग हर चीज़ पर नज़्म लिखी है। नज़ीर ऐसे जनकवि थे जिन्हें आप कुछ भी दे दीजिये, वो उसको बेचने के लिए आम जन की जुबान में नज़्म लिख डालते थे।रंगकर्मी, शायर और लेखक हबीब तनवीर ने अपने सबसे यादगार कृति ‘आगरा बाज़ार’ में शायर नज़ीर … Continue reading “Street hawker Kallu Kewat songs reflect people’s poet Nazeer Akbarabadi’s style”

Media planning in the agency

The workflow or the various stages through which a media plan evolves within an agency differs from agency to agency and also within the agency’s account to account. The variations depend on the size of the problem and the agency’s organization and its relation with its clients. The development of almost all plans must follow … Continue reading “Media planning in the agency”

Divided We Fall

Veteran advertising professional and founder of Katha Kathan Jameel Gulrays has suitably amended Karl Marx’s statement to better fit our current context. He says, “Both religion and politics are the opiate of the people. Both work as drugs that can dumb the mind and make people believe that these two alone can guarantee the future … Continue reading “Divided We Fall”

Loading…

Something went wrong. Please refresh the page and/or try again.


Follow My Blog

Get new content delivered directly to your inbox.